VENHF logo-mobile

वन विभाग की भूमि पर पौधों को नष्ट कर की जा रही खेती- दैनिक जागरण


जागरण संवाददाता, ड्रमंडगंज (मीरजापुर) : ड्रमंडगंज वन रेंज के बबुरा रघुनाथ सिंह वन क्षेत्र कंपार्टमेंट नंबर छह पैच एक, दो, तीन, चार, पांच, छह में बीस-बीस हेक्टेयर पौधारोपण वर्ष 2018-19 में कुल करीब अठारह सौ बीघे में पौधारोपण का कार्य वन विभाग द्वारा कराया गया था। जबसे ड्रमंडगंज रेंज में प्रशिक्षु एसीएफ द्वारा चार्ज लिया गया है और प्रतिदिन ड्रमंडगंज रेंज में नहीं आने के कारण ग्रामीणों द्वारा पौधरोपण को नष्ट कर खेती की जा रही है।

वही आरोप है कि ड्रमंडगंज रेंज में नियुक्त वाचर व न्यूनतम वेतनकर्मी वन उपज चौकी पर बैठकर वसूली में लिप्त हैं। ऐसे में पौधों का देखभाल करने वाला कोई नहीं है और पौधे नष्ट हो रहे हैं। जबकि शासन द्वारा करोड़ों रुपये खर्च करके पौधारोपण का कार्य कराया गया था लेकिन ग्रामीणों द्वारा कराए गए पौधरोपण को ट्रैक्टर कल्टीवेटर से जोतकर नष्ट करने के साथ खेती की जा रही है। इसके बाद वन विभाग अभी तक इन ग्रामीणों पर कोई कार्रवाई नहीं कर रहा है, जिससे ग्रामीणों के हौसले बुलंद हैं और प्रतिदिन पौधारोपण को नष्ट करने का कार्य कर रहे हैं। वही उच्च न्यायालय इलाहाबाद द्वारा वन विभाग को आदेश दिया था कि बबुरा रघुनाथ सिंह में 1500 हेक्टेयर जमीन को अपने कब्जे में लेकर पौधारोपण का कार्य कराया जाए जिस पर वन विभाग द्वारा 343 हेक्टेयर पर पौधारोपण का कार्य तो करा दिया गया लेकिन ग्रामीणों द्वारा पौधो को नष्ट कर दिया जा रहा है।

इस संबंध में डीएफओ राकेश चौधरी ने बताया कि पौधारोपण को नष्ट करने वाले ग्रामीणों के खिलाफ एफआइआर कराने के लिए कार्रवाई की जा रही है।

 

स्रोत : https://www.jagran.com/uttar-pradesh/mirzapur-plants-are-being-destroyed-on-forest-land-19676585.html   

Tags: logging, encroachment

Visitor Count

Today624
Yesterday882
This week2954
This month19270

2
Online