Vindhyan Ecology and Natural History Foundation- Website header image

We are a voluntary organization working for the protection of critical ecosystems in Mirzapur region of Uttar Pradesh using scientific research, policy advocacy, and strategic litigation. To donate online click here


vindhyabachao logo

अष्टभुजा के पहाड़ चितावाखो के पास कई गाव को खूंखार जानवर द्वारा मारा गया था- मिर्ज़ापुर न्यूज़


screenshot mirzapurnews.com 2018 01 10 14 16 47 666

मिर्ज़ापुर १७ मार्च २०१७ को पड़री थाना छेत्र के दांडीराम से सटा मड़िहान इलाके के रिक्शा गाव में अरहर के खेत में खूंखार जंगली जानवर दिखाई देने की बात सामने आ रही थी|ग्रामीड़ो ने बताया की बाघ या तो तेंदुआ को लोगो ने देखा है गाव में हल्ला हो गया है, लोग सतर्क व घबरा गए है |आपको बता दे की वो इलाका पहाड़ो के बीच में बसा हुआ है |गाव वालो ने इसकी सुचना पुलिस को दी है |ये बाते जंगल में आग की तरह फ़ैल गयी है|इस इलाके में लोग खेती पर व पत्थर के व्यवसाय में ज्यादा निर्भर है | लेकिन जहा चुनाव की चर्चा जोरो पर थी अब इलाके में सिर्फ बाघ की चर्चा सभी के जुबान पर सुनी जा रही है |वैसे अष्टभुजा के गहरुआ तालाब के निवासियों ने बताया की लगभग २० दिन पूर्व छेत्र में कई गाय मवेशी को मारकर टुकड़ो में करने की घटना हुई थी ,संभावना व्यक किया जा रहा है की वही बाघ अष्टभुजा पहाड़ी के चितवाखो से गया होगा ||पुलिस ने मौके पर मोर्चा संभाल लिया है वनकर्मीयो व अधीकारियों को अलर्ट कर दिया गया है |DFO KK पांडेय ने पूरी व्यवस्था चाक चौबंद कर राखी है की जैसे ही जानवर का आहट उनके टीम को मिले तत्काल कार्यवाही की जाय रात दिन पैनी निगह रखी जा रही है |वैसे अष्टभुजा के गहरुआ तालाब के निवासियों ने बताया की लगभग २० दिन पूर्व छेत्र में कई गाय मवेशी को मारकर टुकड़ो में करने की घटना हुई थी ,संभावना व्यक किया जा रहा है की वही बाघ अष्टभुजा पहाड़ी के चितवाखो से गया होगा |

स्रोत-http://mirzapurnews.com/news/6552

 

 

Tags: Man Animal Conflict, Tiger

Visitor Count

Today340
Yesterday599
This week939
This month13161

3
Online